नवरात्री शायरी हिंदी में NAVRATRI SHAYARI HINDI 2021

 नवरात्री शायरी हिंदी में NAVRATRI SHAYARI HINDI 

नवरात्रि एक महत्वपूर्ण हिंदू त्यौहार है जिसे पूरे भारत में महा उत्साह के साथ मनाया जाता है नवरात्रि के नौ रातों में 3 देवियों महालक्ष्मी महासरस्वती और महा दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा होती है

 जिन्हें नवदुर्गा कहते हैं आज हम आपके लिए नवरात्रि शुभकामना संदेश या हैप्पी नवरात्रि शायरी लेकर आए हैं जो कि विभिन्न वर्षो से ली गई है लक्ष्मी का हाथ हो सरस्वती का साथ हो गणेश का निवास हो और मां दुर्गा के आशीर्वाद से आपके जीवन में प्रकाश प्रकाश हो लाल रंग से जा मां का दरबार हर्षित हुआ संसार अपने पवन कदमों से मां आए आपके द्वार पर तो आपको यह नवरात्रि का त्योहार हमको था


 इंतजार वह घड़ी आ गई हो कर सवार माता रानी आ गई होगी अब मन की हर मुराद पूरी हरने सारे दुख माता अपने द्वारा गई देवी के कदम आपके घर में आए खुशहाली से नहाए परेशानियां आपसे आंखें चुराए नवरात्रि की आपको शुभकामनाएं नव दिलजले फूल खिले नित नई बहार मिले रात्रि के इस पावन अवसर पर आपको माता रानी का आशीर्वाद मिले जिंदगी की हर तमन्ना पूरी आपकी कोई आरजू रहे ना अधूरी करते हैं

 हाथ जोड़कर मां दुर्गा की विनती आपकी हर मनोकामना जरूर पूरी पद में फूल खिले खुशी आप सबको इतनी मिले कभी ना हो दुखो का सामना यही है नवरात्रि की शुभकामना लाल रंग की चुनरी से सजा मां का दरबार का भंडार मुबारक हो आपको नवरात्रि का त्योहार सारा जहां है जिसकी शरण में नमन है उस माता के चरण में बने उस माता के चरणों की धूल आओ मिलकर चढ़ाए श्रद्धा के फूल और अंत में माता रानी से मैं यही आशीर्वाद चाहती हूं कि माता रानी वरदान ना देना हमें तेरे चरणों में बीते यह जीवन सारा एक बस यही आशीर्वाद देना हमें 

मुद्दतों से चाहत थी मेरी तेरे चरणों में जगह पानी मुद्दतों से चाहत थी मेरी तेरी कदमों में जगह पाने की कब से चाहत थी मेरी मां के गीत गुनगुनाने की जननी है वह तो वही काली दर पर उसके नारा था किसी का दामन खाली जगह पालनहारे मां मुक्ति का धाम है मां हमारी भक्ति का आधार है मां सबकी रक्षा की अवतार है मां जिसने सच्चे मन से जय माता दी बोल दिया समझो माता रानी ने उसके लिए कुबेर का खजाना खोल दिया क्या पापी क्या घमंडी मां के दर पर सभी शीश झुकाते हैं


 मिलता है चैन तेरे दर पर मैया झोली भर के सभी जाते हैं लक्ष्मी जी का हाथ हो सरस्वती जी का साथ हो गणेश जी का निवास हो और मां दुर्गे का आशीर्वाद हो इस नवरात्रि आपके लिए खुशियों का पैगाम हे मां तुझ से विश्वास उठने देना तेरी दुनिया में ऐसे जब सिमट जाऊं चारों ओर अंधेरा ही अंधेरा घना पाऊं बनके रोशनी तुम राह दिखा देना लाल रंग की चुनरी से सजा मां का दरबार हर्षित हुआ मन पुलकित हुआ संसार नन्हे नन्हे कदमों से आए आपके द्वार इस नवरात्रि यही है

 हमारी दुआ बहुत दूर अभी जाना है चिंतन का दामन थामा है इस जमाने से जब मेरी मां ने मुझे अपना माना है माता रानी वरदान ना देना हमें हो सके तो थोड़ा सा प्यार दे देना तेरे चरणों में बीते यह जीवन सारा एक बस यही आशीर्वाद दे देना हो जाओ तैयार मां अंबे आने वाली है सजा लो दरबार मां अंबे आने वाली है तन मन और जीवन हो जाएगा पावर मां के कदमों की आहट से गूंज उठेगा आंगन कुमकुम भरे कदमों से आए मां दुर्गे आपके द्वार सुख संपत्ति मिले आपको अपार यही है मां दुर्गा से पुकार सारा जहां है

 जिसकी शरण में नमन है उस माता के चरण में बने उस माता के चरणों की धूल आओ मिलकर चढ़ाए श्रद्धा के फूल बाग में फूल खिले खुशी आप सबको इतनी मिले कभी ना हो दुखो का सामना यही है नवरात्रि की शुभकामनाएं सभी को नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं विश यू हैप्पी नवरात्रि जय माता दी मैंने तेरा नाम लेकर ही सारे काम किए हैं मां और लोग समझते हैं

 कि बंदा बहुत किस्मत वाला है शेरो वाली मैया के दरबार में दुख दर्द मिटाए जाते हैं जो भी दर पर आते हैं शरण में लिए जाते हैं जय माता दी नवदीप जले नव फूल खिले रोज मां का आशीर्वाद मिले कभी ना हो दुख का सामना पग पग मां दुर्गा का आशीर्वाद मिले मां तेरी कृपा रही तो 1 दिन अपना भी मुकाम होगा 7000000 की ऑडी कार होगी और फ्रंट शीशे पर मा दुर्गा का नाम होगा जय माता दी लक्ष्मी जी का हाथ हो सरस्वती जी का साथ हो गणेश जी का निवास हो और मां दुर्गा के आशीर्वाद से आपके जीवन में प्रकाश ही प्रकाश हो शुभ नवरात्रि जब भी मैं बुरे समय में घबराता हूं मेरी पहाड़ा वाली माता की आवाज आती है रुक मैं आती हूं


 जय मां वैष्णवी मां दुर्गे मां अंबे मां जगदंबे मां भवानी मां शीतला जय माता दी मां की ज्योति से प्रेम मिलता है सबके दिलों में मरहम मिलता है जो भी जाता है मां के द्वार कुछ ना कुछ तो जरूर मिलता है शुभ नवरात्रि हे मां तू तो एक दुख निवारण ई सर्व मंगल कार्य चंद मुंड धारणी तू ही शुभ निशुंभ धारणी तेरी जय हो जय हो जिसका हमको था इंतजार आखिर वह घड़ी आ ही गई होकर सिंह पर सवार माता रानी सब के द्वारा आ गई होगी अब हर मन की हर  मुराद पूरी हरने सारे दुख माता आपके द्वारा गई जय माता दी 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ