5 LOVE SHAYARI HINDI लव शायरी हिंदी

5 LOVE SHAYARI HINDI लव शायरी हिंदी 

 1 एक तुम हो की कितनी अच्छी हो एक तुम हो कितनी प्यारी हो एक तुम हो कितनी सच्ची हो और एक हम है जुट जुट बोले जा रहे है दिल में सूपा रखी है मोहब्बत काळा धन की तरह खुलासा नहीं करता हु कही हगामा ना हो जाए

लोग कहते है मोहब्बत के रास्ते में हर वक्त दर्द मिलेगा में सोच रहा हु हॉस्पिटल खोल दू मस्त चलेगा इश्के ख्याल बोहोत है इश्क का सर्से बोत है सोचते है हम भी कर ले इशक पर सुना है इश्क में खर्चा बोत है 


आज तुम पे आसुओ की बरसात होगी फिर वही कर्वी काली रात होगी मेसेज ना करके तुमने जो दिल दुखाया है

ना चाँद की चाहत ना तारो की फरमाइस हर जन्म तू मिले बस यही मेरी ख्वाइस तुम्हारी कसम हम तुम्हे खोने से बहुत डरते है क्योकि हम तुमसे बहुत ज्यादा प्यार करते है 

दिल से प्यार करते है दिल से निभाएगे जब तक जिन्दा है सिर्फ तुजे ही चाहते है भुलाया उनको जाता है जो दिमाग में बस्ते दिल में बसने वालो को भुलाया नामुमकिन होता है 

2 मेरी पसंद बहुत लाजवाव होती है नहीं यकीं तो एक बार खुद को आइने में देखो शायर हु इस बात से इंकार नहीं है कैसे कह दू की आपसे प्यार नहीं और ये जो तुम छोड़ गए हो बिच रास्ते पे सुन लेना की  ए इश्क है कोई व्यपार नहीं है 

रोता है  दिल जब वो पास नहीं होता है दर्द है दिल में पर उष्को एहसास नहीं होता है रोता है दिल जब वो पास नहीं होता है 

परेशान हो गए है हम उश्के प्यार में और हसकर कहते है पागल हो तुम इस तरह प्यार नहीं होता है भूल जाते है जिसको देखकर सारे गम उष्को मेरे होने से ना होने से कोई मतलब नहीं होता है दर्द है दिल में पर उष्को अहसास नहीं होता है 

वो मुलाकात कुछ अधूरी सी लगी पास होकर कुछ दुरी सी लगी होठो पे हसी आखो में नमी पहली बार किसी की चाहत इतनी जरुरी सी लगी 

3 तमन्ना है मेरे मन की हर पल साथ तुम्हारा हो जितने भी सासे चले मेरी हर सास पर नाम तुम्हारा मुझसे यह मत पूछ की क्यों आँख झुका ली मेने तेरी तस्वीर थी जो तुझ से छुपा ली मेने 

जिस पे लिखा था तू मेरे मुकदर में नहीं अपने माथे की लकीर मिटा ली मेने हर जन्म सबको यहां प्यार कहा मिलता है तेरी चाहत में तो पूरी उम्र बिता ली मेने 

किसी की यादो को रोक पाना मुश्किल है रोते हुए दिल को मनाना मुश्किल है ये दिल आपको कितना याद करता है यह लफ्जो में बताना मुश्किल है 

चाय कम पिया करो होठो की शान चली जाएगी किसी और की तरह मत देखो हमारी जान चली जायगी 

4 कितने अजीब होते है ना ये मोहब्बत के रिवाज लोग आप से तुम से जान और जान से अनजान बन जाते है किसी को क्या बताय कितने मजबूर है हम जिसे चाहा सच्चे दिल से उसी से दूर है हम 

अब न तेरे आने की ख़ुशी न तेरे जाने का गम गुजर गया वो वक्त जब तेरे दीवाने थे हम रोता वही है जिसने महसूस किया हो सच्चे रिश्ते को वरना मतलब के रिश्ते रखने वालो को तो कोई भी नहीं रुला सकता है दर्द आखो से निकला तो सबने बोला कायर है ये जब दर्द लफ्जो से निकला तो सब बोले शायर है ये 

किसी को क्या बताए कितने मजबूर है हम जिसे चाहा सच्चे दिल से आज उसी से दूर है हम 

आज कल लोग दिल तोड़ने के बाद भी बोलते है यार गलती से हो गया वक्त आपको बता देता है की लोग क्या थे और आप क्या समझते थे मेरे साथ वक्त भी बैठ कर रोया एक दिन बोला बाँदा तू ठीक है में ही खराब चल रहा है हु 

में कैसे भुला दू उसे इंसानो को आती है यादो को नहीं मुझे रोता हुआ देखकर वह खुद रो दे वो हमसफ़र चाहिए मुझे 


5 मोहब्बत कभी सच्ची नहीं होती है जिसमे आप ब्लॉक ना हुए हो 

लोग कहते है पेसो रखो बुरे वक्त में काम आएगा में कहता हु रब पर यकीन करो बुरा वक्त ही नहीं आएगा 

अजनबी हल पूछ रहे है और आपनो को खबर तक नहीं है 

मेरी अल्फाजो को इतनी शिदत से ना सुना करो कुछ याद रह गया तो भूल नहीं पाओगे 

चले जायेगे इस दुनिया से दिन फिर तुम्हे अहसास होगा मेरा होना क्या था और मेरा ना होना क्या है 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ