marwari shayari hindi

मारवाड़ी शायरी हिंदी 

 पत्थर व्हिच गया है अब घर के चबूतरे पर बारिश पड़ी भी जाए तो मिट्टी की खुशबू नहीं आती यह उम्र बढ़ने की जगह घट जाती तो क्या बात थी

 

जिंदगी मां की गोद में कट जाती तो क्या बात थी गीता में लिखा है जब इंसान की जरूरत बदल जाती है

 

 तब इंसान के बात करने का तरीका भी बदल जाता है इंसान का जमीन और शतरंज का वजीर एक जैसा होता है क्योंकि अगर दोनों मर गए

 

 तो खेल खत्म जिंदगी में हर चीज की कोई वजह होती है अच्छा इंसान वही कहलाता है जो कभी भी किसी का बुरा नहीं चाहता

 

आज की दुनिया में कोई किसी का नहीं रहा सिर्फ वक्त के साथ अपने सच्चे कर्म करो बस वही आपकी राह को सुगम बनाएगा रिश्तो की चाय में शक्कर को हमेशा समांतर रखना ज्यादा मीठा हो तो स्वाद नहीं आएग




 फिका हो तो मन भर जाएगा दिमाग का ज्यादा इस्तेमाल जुबान का कम इस्तेमाल आदमी को बेहतर इंसान बना ही देता है

 

जिंदगी में सब कुछ दोबारा मिल सकता है लेकिन वक्त के साथ खोया हुआ रिश्ता और भरोसा दोबारा नहीं मिलता कोई प्यार करने वाला मिल जाए 

तो संभाल के रखना परवाह करने वाला बार-बार नहीं मिलती आंखों से गिरे आंसू और नजरों से गिरे लोग कभी वापस नहीं उठते सच्चा प्यार कभी यकीन दिलाने का मोहताज नहीं होता

 एक दिल धड़कता है तो दूसरा अपने आप समझ जाता है अपने प्यार को परखना हो तो उसे बस इतना कह दो कि मैं तकलीफ में हूं जब तक आप का सामना आप की सबसे बड़ी कमजोरी से नहीं हो जाता

 तब तक आपको अपनी सबसे बड़ी ताकत के बारे में पता नहीं चलता वैसे ही मौत हो जरूरी तो नहीं यहां तो अपमान की एक घूंट से सांसे रुक जाती है

 अच्छे दिन बैठे रहने से नहीं बल्कि उन्हें पाने के लिए बुरे दिनों से लड़ना पड़ता है धोखा खाने वाला इतना नहीं गम आता जितना धोखा देने वाला गवा देता है

 

शराब से ज्यादा नशा धन का होता है क्योंकि शराब का नशा तो दो 4 घंटे बाद ही उतर जाता है 

लेकिन धन का नशा तो जिंदगी बर्बाद करने के बाद ही उतरता है भगवान पर विश्वास बिल्कुल उस बच्चे की तरह करो जिसको आप हवा में उठा लो तो वह हंसता है 

डरता नहीं क्योंकि वह जानता है कि आप उसे गिरने नहीं देंगे स्वभाव रखना है तो उस दीपक की तरह रखो जो बादशाह के महल में भी उतनी ही रोशनी देता है

 

जितनी किसी गरीब की झोपड़ी में रिश्तो के बाजार में आजकल वह लोग हमेशा अकेले पाए जाते हैं 


जो दिल और जुबान के सच्चे होते हैं जिनके पास अपने परिवार के लिए समय होता है

 

वह जिंदगी में हारी हुई बाजी भी जीत जाता है अकड़ तो सब में होती है झुकता वही है जिसे रिश्ते की फिक्र होती है

 

मौका जितना छोटा शब्द है उतनी ही देर के लिए आता है आने की दस्तक तो दूर जाते हुए दरवाजा भी नहीं खटखट आता है 




रात सुबह का इंतजार नहीं करती खुशबु मौसम का इंतजार नहीं करती जो भी खुशी से मिले उसका आनंद लिया करो क्योंकि जिंदगी वक्त का इंतजार नहीं करती

 जिंदगी के लिए नियम कभी यह मत सोचिए कि आप कुछ भी नहीं है कभी ऐसा भी मत सोचिए कि आप ही सब कुछ है पर

 

हमेशा यह सोचिए कि आप कुछ तो है जो सब कुछ कर सकते हैं संसार जरूरत के नियम पर चलता है 

सर्दियों में जीत सूरज का इंतजार होता है उसी सूट मुंह पर सच बोलने की आदत है मुझे इसलिए लोग मुझे बदतमीज कहते हैं घड़ी की फितरत भी अजीब है

 

हमेशा टिक टिक कहती है मगर ना खुद पिटती है ना दूसरों को टिकने देती है

 कभी-कभी नाराजगी भी जरूरी है क्योंकि पता तो चले कि हमें मनाने वाला भी कोई है मुसीबतें ही सिखाती है

 

इंसान को जिंदगी जीने का हुनर कामयाबी का मिलना कोई इत्तेफाक नहीं होता जिंदगी जब कठिन समय में नाचना चाहती है तो विडंबना यह होती है

 कि ढोलक बजाने वाले आपके अपने जान पहचान वाले ही होते हैं रिश्ते हमेशा इमानदारी से निभाएं चाहे भाई-बहन का हो या दोस्ती का रिश्ते में हमेशा नियत साफ रखिए विश्वास बहुत बड़ी चीज है

 

 उसे टूटने ना दें अगर आप किसी से प्यार करते हो तो उसे किसी भी शर्त में मत बांधो उसे आजाद रखो और यह मत सोचो कि वह आपको धोखा ना दे क्योंकि यदि वह आपका है

 

 तो वह आपका ही रहेगा और अगर आपका है ही नहीं तो एक दिन जरूर छोड़ कर चला जाएगा जिंदगी का सबसे बड़ा रहस्य यह है 

 

 हम जानते हैं कि हम किसके लिए जी रहे हैं लेकिन यह कभी नहीं जान पाते कि हमारे लिए कौन जी रहा है नामांक कुछ जमाने से यह देखकर फिर सुनाते हैं किया एहसान जो एक बार बोल लाख बार जताते हैं जब रिश्ता नया होता है

 

 तो लोग बात करने का बहाना ढूंढते हैं और जब वही रिश्ता पुराना हो जाता है तो लोग दूर होने का बहाना ढूंढते हैं माना कि मैं अमीर नहीं हूं यह बात तो सच है

 

 लेकिन अगर कोई अपना बना ले तो उसका हर गम खरीद सकता हूं यदि आप अपने व्यक्तित्व को आकर्षक बनाना चाहते हैं

 

 तो किसी व्यक्ति के निजी जीवन में दखल देने की चेष्टा ना करें ना ही अनावश्यक रूप से अपने निजी जीवन की किताब किसी दूसरे के सामने खोल कर बैठे अपना गम सोच समझकर किसी से बांटना चाहिए दुनिया में हमदर्द कम और सर दर्द ज्यादा मिलते हैं



 जोर से खामोशी ढूंढना आसान है ख़ामोशी में शोर सुनने के लिए कान नहीं जज्बात चाहिए याददाश्त का कमजोर होना बुरी बात नहीं है जनाब बड़े बेचैन रहते हैं व

 

ह लोग जिन्हें हर बात याद रहती है लोगों को परवाह नहीं कि आप खुश है या उदास उन्हें परवाह है

 कि आप उन्हें कितना खुश रख सकते हैं धूप बहुत काम आई कामयाबी के सफर में छांव में अगर होते तो सो गए होते कई बार दो कौड़ी के लोग जिंदगी का सबसे महंगा सबक दे देते हैं 

 

लोग आपको दर्द नहीं देते बस आप ही उनसे ज्यादा उम्मीदें लगाते हैं खामोशी से रहने का मिजाज है मेरा इसे गुरुर मत समझिए कल शीशा था तब देख देख कर जाते थे 

 

आज टूट गया तब बच बच कर जाते हैं समय के साथ बदल जाता है देखने और इस्तेमाल का नजरिया दौड़ने दो इन नन्हे कदमों को खुले मैदानों में जिंदगी बहुत भगति है

 

बचपन गुजर जाने के बाद आज की कड़वी सच्चाई लोग केवल पैसे वाले को ही महत्व देते हैं

 

 चाहे सामने वाला व्यक्ति का चरित्र इरादा या आदतें कैसी भी क्यों ना हो चींटी से मेहनत बगुले से तरकीब और मकड़ी से कारीगरी सीखिए तकलीफों से वही गुजरता है

 

 जो दिल का सच्चा होता है वरना झूठों को तो फर्क भी नहीं पड़ता जिंदगी की दौड़ में त

 

जुर्बा कच्चा रह गया हमने ना सीखा फरेब दिल बच्चा रह गया खुशियां आए जिंदगी में तो चख लेना मिठाई समझकर जब गम आए तो वह भी कभी खा लेना 

Comments