शायरी लव और मोहब्बत हिंदी में 2021

SHAYARI LOVE AND MOHBBT HINDI 2021

 अधूरी ख्वाहिशें तो जिंदगी जीने का मजा देती है तुम तनहाइयां बच्चों के मुझे वह भी मंजूर है बस कह देना दिल से दी है चलो भूखा ही था

 तुम्हारा इश्क सब झूठ था तो झूठ अपनी डूबा को कहने देते मैं खुशी मुझे धोखे में ही रहने देते हमसे नाराज हैं कि तू कहां है मेरी खुशियों उदास है


 कि तू कहां है अरसा हुआ चांद खिला नहीं है मेरे आसमान में तारों की आवाज है कि तू इसमें मेरी कमजोरी समझ के मुझसे बात बढ़ाना मत जो कमाल कभी दिखाया था वह फिर से दिखाना मत मेरे दिल को 255 मिनट की स्पीड से फिर से धड़काना मत अब मैं तुम्हें भूल चुका है 

जिंदगी में वापस आना मत आना मत एक साधारण लड़की को खुदा बना उसके सामने सर झुकाना मत किसी को अपना शिकार कराने के लिए उसके साथ जाना प्यार इश्क मोहब्बत के नाम पर अपना कटवाना मत मैं तुम्हें भूल चुका हूं 

तुम वापस आना मत आना मुझको अच्छा सा नाम से पंछियों को देते हो दाना पानी ध्यान से पंछियों को देते हो दाना पानी इतने अच्छे हो ना तुम्हारी आंखों को उतारने के लिए उतारने के लिए सिगरेट और शराब का कारोबार हो रहा था

 ना तेरे आने की खुशी ना तेरे जाने का गम ना तेरे आने की खुशी ना तेरे जाने का गम बीत गया गलत कैसे अगर आपका दिल किसी को बार-बार पुकारे से पुकारना नापाक हो तो क्या यह गलत होगा कि वह सामने आ जाए तो उसे अनदेखा करना ना गवार हूं 

और वह सामने है तू क्यों है क्या उसे पल भर के लिए देख लेना भी सही नहीं है और हालत है तो सही क्या है यह सही और गलत का फैसला आखिर कौन करता है अगर चोरी करने की सजा मिलती है तो दिल दुखाने की सजा भी तो मिलनी चाहिए अगर अदालतों में घर तोड़ने की सुनवाई की जाती है

 तो घर तबाह करने की सजा भी तो मिलनी चाहिए अगर अपने जेबों को पैसों से भरना गलत है तो किसी एक इंसान को देवता जैसे पूछना सही है क्या बेशुमार मोहब्बत होगी उस बारिश की बूंद को भी जमीन से बेशुमार मोहब्बत होगी उस बारिश की बूंद को भी इस जमीन से यूं ही नहीं कोई मोहब्बत में इतना गिर जाता है

 सबसे पहले अपने फोन में टिंडर इंस्टॉल करने वाले हैं और ऑफिस पहुंचते ही सबसे पहले पहुंचे टिंडर डिलीट करने वाली हूं फिल्में शॉपिंग करके खाली बैग बुची जारा के लेकर घूमने वाली हो यू डिजर्व समवन बेटर बोलकर रिलेशन खत्म करने वालियों प्यार में इतने सोते भी नहीं होते 

और हर लड़के कैसे नोवा नहीं होते आज तक तुम वह कहते आए थे आज तक तुम वह कहते आए थे अब पीकर के आखिरकार आधे तुम लगा चुके जाम और आधे अभी बाकी है प्यारे फिर भी ना जाने क्यों तुझसे ही प्यार करता हूं सच जानना चाहते बहाने गुलाब के बहाने नहीं मुझे अधूरा रह जाती है

 याद आती है मगर हमारे साथ ऐसा करोगे तो आ रहे हो अंगूठी लौटा रहे हो अंगूठी क्या करोगे जरा संभाल के रखो और मर जाऊंगा तुम्हारे बिना तू कैसा है तू कैसा है तुम्हारे दोस्तों में भी मेरे चाहने वाले हैं उम्र छोटी है तो क्या जिंदगी का हर एक मंजर देखा है जिंदगी का हर एक मुस्कुराहट चेहरे से सुंदर है मगर झूठ बोलती है 

झूठ बोलती हैं खुद को बेवफा कह रहे हैं नशा शराब में नहीं है क्या तुम्हें पता है इश्क करते हुए घबराए पहले तुम ही थे हमारी मोहब्बत में शर्माए पहले तुम ही थे और यह माना कि तुझे बाहों में पहले मैंने भरा था पर मेरे फोटो के पास आए पहले दो सब से झगड़ कर तुझे अपना बनाया था तू के दशक से जिंदा है सलामत है भाई तू एक आंसू ही बहा कर मुझे ले जाए वैसे तो एक आंसू ही बहा कर मुझे ले जाए ऐसे कोई तूफान या मुझ जैसे हजार से किसने दस्तक दी ये दिल पर कौन है 

नजर ना आए तो उसकी तलाश में रहना नजर ना आए तो उसकी तलाश में रहना कहीं मिले तो पलट कर ना देखना उसको नजर ना आए तो उसकी तलाश में रहना कहीं मिले तो पलट कर ना देखना उसको गुस्सा तथा जमाने के हम समझता क्या वह सादा खूब था 

जमाने के हम समझता क्या हवा के साथ चली हवा उसको अपने बारे में कितना है खुशनुमा देखो वह अपने बारे में कितना है खुशनुमा देखो मैं देखूं 

तुझको सारे सिपाही मूवी अलग बात के खामोश खड़े रहते हैं अलग बात के खामोश खड़े रहते हैं फिर भी जो लोग बड़े हैं वह पड़े रहते हैं फिर भी जो लोग बड़े-बड़े और क्या आज पानी चाहिए यह कहां की रीत है जागे सोए यह कहां की रीत है आगे कोई सोए कोई रात सबकी है तो सबको नींद आनी चाहिए 



उसको हंसने के लिए तो इस कोरोनावायरस की झोली से सबको एक कहानी चाहिए वक्त की झोली से सबको एक कहानी चाहिए तू जरूरी है किसी के पीछे पीछे हम चलें जब सफर अपना है तो अपनी रवानी चाहिए कौन पहचाने गा दानिश अब तुझे किरदार से कौन पहचाने गा दानिश अब तुझे किरदार से बेमुरव्वत भक्तों को राजा निशानी चाहिए

महीनों बाद दफ्तर आ रहे हैं महीनों बाद दफ्तर आ रहे हैं हम एक सदमे से बाहर आ रहे हैं महीनों बाद दफ्तर आ रहे हैं हम एक मैसेज में रहने से बाहर आ रहे हैं तेरी बाहों से दिल आ गया है अब इस झूले में चक्कर आ रहे हैं

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ