LOVE SHAYRI

 LOVE SHAYRI

बिना आहट के इन आखो से दिल में उतरते हो तुम वाह सनम क्या लाजवाब इश्क करते हो तुम 

मुझको चाहते होंगे और भी बहुत लोग मगर मुझे मोहब्बत सिर्फ अपनी मोहब्बत से है 

हाल तो पूछ लू तेरा पर डरता हु आवाज से तेरी जब जब सुनी है कमबख्त मोहब्बत ही हुई है 

अदा है ख्वाब है तकसीम है तमसा है मेरी इन आखो में एक श्ख्म बेतहाशा है 

मोहब्बत का कोई रग नहीं फिर भी वो रगीन है प्यार का कोई चेहरा नहीं फिर भी वो हसीन है 


LOVE SHAYRI

किसी के लिए किसी की अहमियत खास होती है एक के दिल की चाबी हमेशा दूसरे के पास होती है 

 न जाने क्या मासूमियत है चेहरे पर तेरे सामने आने से ज्यादा तुजे छुपकर देखना तुजे छुपकर देखना अच्छा लगता है 

ना कर शक मेरी मोहब्बत पर ऐ पगली अगर सबूत देने पर आया तो तू बदनाम हो जायेगा 

वो पूछते है हमसे की क्या हुआ है कैसे बताये उन्हें की उन्ही से इश्क हुआ है 

लगता है मेरा दिल में भी FACE UNLOCK है जब तुम सामने आती है हो तभी खुलता है 

LOVE SHAYRI

चाहत के दिप ऐसे बुझे की फिर जले ही नहीं होठ ऐसे सिले की फिर खुले ही नहीं व्यर्थ किस्मत पर रोने से क्या फायदा यही सोच लेना की हम तुमसे मिले ही नहीं 

खुद के लिए इक सजा मुकर्रर कर ली मेने तेरी खुसिया की खातिर तुजसे दूरिया चुन ली मेने 

मोहब्बत किसी से करनी हो तो हद में रहकर करना वर्ना किसी को बेपनाह चाहोगे तो टूटकर बिखर जाओगे 

रोने दे तू आज हमको आसुओ से भीग जाने दे बाहो में ले लो मुगको सब कुछ भूल जाने दे है सीने में कैद दरिया वो छूट जायेगा है इतना दर्द की तेरा दामन भीग जायेगा 

ऐ दिल न रख उमीदे वफ़ा किसी परिंदे से जब पर निकल आते है तो अपने भी आशिया भूल जाते है 

LOVE SHAYRI

तुम भी चाहत के समंदर में उत्तर जाओगे खुशनुमा से किसी मंजर पे ठहर जाओगे मेने यादो में तुम्हे इस तरह पिरोया है में जो टुटा तो सनम तुम भी बिखर जाओगे 

आज अचानक तेरी याद ने मुजे याद आती है क्या करू तुमने जो मुझे भुला दिया ना करना वफ़ा ना मिलती यह सजा शायद मेरी वफाओ ने ही मुझे बेवफा बना दिया 

रात की गहराई आखो में उतर आई कुछ ख्बाब थे और कुछ मेरी तन्हाई ये जो पलकों से बह रहे है हलके हलके कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई 

कुछ इस तरह से मेरी जिंदगी को मेने आसान कर लिया भूलकर तेरी बेवफाई अपनी तन्हाई से मेने प्यार कर लिया 

इक तुम हो की कितनी अच्छी हो इक तुम हो की कितनी प्यारी हो इक तुम हो की कितनी सच्ची हो और इक हम हैं झूट पे झूट बोले जा रहने हैं 


LOVE SHAYRI

दिल में छुपा रखी है मोहब्बत काळा धन की तरह खुलासा नहीं करता हूँ कही हंगामा ना हो जाए 

लोग कहते है मोहब्बत रास्ते में हर वक़्त दर्द मिलेगा मई सोच रहा हूँ हॉस्पिटल खोल्दु मस्त चलेगा 

इश्क़ की ख्याल बोहोत हैं इश्क़ की चर्चे बोहोत हैं सोचते हैं हम भी कर ले इश्क़ पर सुना है इश्क़ में खर्चे बहोत है 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ