हा मेने कभी किसी से दोस्ती ही नहीं की

 हिंदी लव शायरी और मोहब्बत शायरी नई लिस्टेड 2021 

हा मेने कभी किसी से दोस्ती ही नहीं की किसी के साथ मिलकर किसी की बेजती नहीं की और यह जशन यह साथ यह मौज तुम मुबारक हो दोस्तों मुझे मेरे तन्हाई ने मेरे पीठ पीछे बाते नही की 

गलती हमारी है थी जो हम उनसे ज्यादा बात करने लगे जब हो गई हमें उनकी आदत तो वो हमें नजर अंदाज करने लगे   साथ तो जिंदगी भी छोड़ जाती है फिर इंसान क्या चीज है खुद से एक ही सवाल रोज पूछते है आखिर चल क्या रहा है जिंदगी में



आज तूम कुछ हो इसरो में बता देना इसरो में बता ही देना राज जो कुछ हो इसरो में बता ही देना राज जब से मिलाना दबा भी देना 

एक बार किसी शायर ने पूछा जनाब च्चे प्यार की पहचान क्या है तो हसकर उस शायर ने कहा वैसे तो बोत है पर अगर एक शब्द का जबाब दिया जाए तो मत रोना तो उसमे यह लिखा था अगर रोये अगर कोई सकस कमजोर कहलाता है कौन जाने इस दुनिया में कोई किसी के लिए क्यों रोता है अगर इतना ही आसान होता रोना कभी किसी सकस का दिल न टुटा करता बुरे लगने और रोने में फर्क होता है जनाब और अस्क किसी पर बहाया नहीं जाता है जनाब 

चल शारी गलती मेरी है आज में कबूल करता है रोजाना तुजे याद वक्त फिझुल करता हु अभी इन आखो तेरा इंतजार नहीं कही ऐसा नहीं तुजसे प्यार नहीं है पर फिर से तुजे पा सकू इतनी मेरी ओकात कहा मेरी तुजमे है जान पर मेरी ओकात कहा 

हा छस  है की में तुम पे शक करता हु क्यों की में तुम खोने से डरता हु कास तू समज पाता मेरे दिल के जज्बातो में तुमसे कितना प्यार करता हु किसे मालूम था इशक इतना लासार करता दिल जानता है वो दूर है फिर ही इतजार करता है 


जानम तू मेरी जान हो तुजमे तो मेरा रब बचता है तू की क्या जाने मेरे रब को रब तो सब का एक ही है जो दुनिया को लेके चलता है तू जैसे को   कच्ची फली तोड़ी कैसे जाए बालपने की दोस्ती छोड़ी कैसे जाए   काच की साइकल मुके से तोड़ दू तेरे जैसी जानने मन मिले तो घर वाली को छोड़ दू 

मन कहता है मिलने का पर यह दुनिया मतलब की मिलने नहीं देती है दुनिया वालो चुनलो मेरी जानम है में एक न एक दिन जरूर मिल के रहुगा क्यों की वो मेरी जानम है 

हिंदी लव शायरी मोहब्बत शायरी नई एंड बेस्ट 

बे वजह किसी से मुलाकात  नहीं करते बड़ो के बोलने से पहले शुरुआत नहीं करते बड़े हो तुम पर बाप नहीं कहने को हम भी कह सकते ममी ने कहा अचे बचे गन्दी बात नहीं करते 

में कहुगा की गुलाब ख़वाब दवा क्या क्या है में आह गया हु बता इंतजाम  क्या क्या है   आग के पास कभी कभी मोम को लेकर देखूं कोई ताकत हो इजाज़त तो तुजे हटा कर देखु   के तू कानून से आँख मिलाओ सैलाबों पर वॉर करो मल्लाहों का चककर छोड़ो तेर के दरिया पार करो  फूलो की दुकान खोलो खुसबू का ब्योपार करो इश्क खत्म है खाता है तो यह खाता है एक ये खाता एक बार नहीं 100 बार करो 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ