तुम कितने अच्छे हो शायद तुम्हे बता नहीं सकती

हिंदी लव शायरी 

 1तुम कितने अच्छे हो शायद तुम्हे बता नहीं सकती में कितनी पागल हु खुद को समजा नहीं सकती क्यों होती हु नाराज तुमसे जब तुम बिन रह नहीं सकती तुम क्या हो मेरे लिए यह में कह नहीं सकती तेरी दर्द ए जुदाई पल भर भी सह नहीं सकती 

2यह उन दिनों की बात है जब हम तन्हा रहते थे न वो कुछ कहते थे ना हम कुछ कह पाते थे जब भी वो सामने आते थे हम उन्हें देखते ही रह जाते थे 


3चाँद सितारे फूल शबनम तुमसे अच्छा कोन है धरती अम्बर फूल गुलशन तुमसे अच्छा कोन हैं बादल बरखा काली घटाए तुमसे अच्छा कोन है सोचती हु इस दुनिया में तुमसे अच्छा कोन है 

4चाँदनी रात है चाँद है तारे है वो है हम है और ख़ामोशी है इस खुशनुमा मौसम में हाय यह केसा खामोसी का आलम है 

5चांदनी रत का चाँद हो तुम सितारों का सरताज हो तुम गुलिस्ता का गुलजार हो तुम न जाने किस दीवानी का प्यार हो तुम 

6न जाने किस रोज उनसे मुलाकात होगी न जाने उस रोज उनसे क्या बात होगी यह सोच के दिल घबराये यार न जाने उस रोज कैसी हालत होगी 


7 में शायर हु दीवाना सा तू शायरी है मस्तानी सी तेरे बिन में अधूरा मेरे बिन तू अधूरी तू ही है मेरी जिंदगानी सी 

8 बस कुछ दिनों की बात है बस तेरी मेरी मुलाकात है फिर काया करेगी दुनिया जब तू मेरे साथ है 

                                                    सबसे अच्छी शायरी 2021 की

9 एक लड़की है दीवानी सी हरपल रहती है मदमस्त मस्तानी सी खोई रहती है खवाबो में दीवानी सी हरपल रहती है अनजानी सी

10 शायर तो नहीं में लेकिन किसी की शायरी हु में पागल तो नहीं में लेकिन किसी की दीवानी हु में किसी की अधूरी कहानी हु में उस की जिंदगानी हु में 

11 यद् जब तुम्हारी आती है आखो बरबस हो जाती है हम यादो में खोये रहते है यादो में जीवन बिताते है 

12 हम हसते हसते हर बात कह जाते है हम हसते हर दर्द सह जाते है हम हसते जिंदगी का हर गीत गुनगुना जाते है

13कैसे कहु तुमसे प्यार हो गया तू ही मेरा जनून हु मेरा सपना कैसे कहु तुमसे इकरार हो गया तू ही जिंदगानी मेरी तू ही मेरी हर बात है कैसे कहु तुमसे प्यार हो गया 

14 आसमान में तारे जितने दिल में उतने अरमान है कितने अरमा पुरे होंगे बस उसको पता है दिल अरमानो से भरा है सपनो से सजा है कितने अरमा पुरे होंगे बस रब को पता है 

15 यह सपनो की दुनिया है इसमें मेरी भी एक सपना है यह सपना कब पूरा होगा बस दिल में यही अरमा है 

16 खुसनुमा मौसम है हम भी है वो भी है देखे हम एक दूजे को बार बार पर जबा साथ न दे पाये पर आखो तो कुछ कहना चाहे भी है 

17 यह जिंदगी अरमानो से भरी है यह दुनिया अगरो  से भरी है जाने यह अरमा कैसे पूरी होगी क्यों की यह दुनिया मतलब की 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ