3 मोटिवेशनल कहानिया हिंदी

3 मोटिवेशनल कहानिया 

 आम को फलो का राजा कहा जाता है और सीजन आने पर हर कोई इसका स्वाद का मजा लेना चाहता है लेकिन किसी को शुगर a  डायबिट है वो चाहकर इसका स्वाद का मजा नहीं ले पाते उन्ने अपना मन खाने का करते पर वो नहीं खा सकते उन्ने अपनी बॉडी का शुगर लेवल मेन्टीन करता पड़ता है लेकिन सायद अब इन लोगो को इस बात की चिंता न करनी चाहिए क्यों हमारे पडोसी देश पागिस्तान के कुछ अक्सपार्ट ने साइटिस ने मोडिफाई शुगर फ्री मेगो बना ले जी है आप ठीक सुन रहे है शुगर फ्री आम अब मार्केट में अब आने वाले है क्यों की सुनारो  ग्रीन  केट के नाम से मिलेंगे जिसमे 4से 6  प्रतिशत शुगर का पंण्टेत होगा तो अब सायद शुगर के मरीज आम का मजा ले पाए दोस्तों क्या आपको 

जानकारी पहले से पता था अगर नहीं पता था कॉमेट में जरूर बताये ऐसा अमेजिंग पोस्ट के लिए जरूर पढ़े 


झंडुबाम इस कम्पनी को सन 1910 को झंडू भट्ट ने सुरु किया था जिससे सन 2008 इमामी कम्पनी ने खरीद लिया था लेकिन इसकी अचली किस्मत पलटी सन 2010 में जब सलमान खान की मूवीस दबग रिलीज हुई इस मूवीस का एक गाना मुन्नी बदनाम हुई काफी ज्यादा फेमस हो गया था और उसकी एक लाइन में झंडुबाम हुई लोगो के जुबान पर सड़ गया जिसकी वजह से झंडुबाम को काम की सेल्ल डबल हो गई लेकिन फिर भी इमामी  कम्पनी को झंडुबाम  बिना परमीशन के यूज करना कुछ राज नहीं आया और इमामी कम्पनी ने फिलिम के पड़ीउषर पर chopiright  का केस कर दिया लेकिन बादमे कोर्ट के बहार सेटमेंटल हो गया और मलाई का अरोरा झंडुबाम की ब्रांड बन गई इसे कहते है किस्मत बैठे डबल हो गई आपको यह पोस्ट केछा लगा कॉमेट में जरूर बताये 


जब कुछ कर गुजरने की चाहा हो तो रास्ते के काटे कभी मायने नहीं रखते कुछ ऐसी कहानी है महारास्ट के दिल्ली आये लक्मण राव की जो की लेख्स बनना चाहते थे लेकिन पैसे की कमी से उन्होंने चाय बेचना सुरु किया जब आमदनि ठीक थाक होने लगी उन्होंने पढ़ना लिखना फिर से सुरु किया 37 साल की उम्र में उन्होंने 12 वि   क्लास की और 50 साल की उम्र में उन्होंने ba  किया और 63  साल उम्र में उन्होंने MA  किया और उन्होंने बॉक्स भी लिखी लेकिन जब भी वो अपनी बॉक्स मिस्टर के यहाँ जाते उनने बहार का रास्ता दिखादिया जाता है लेकिन उन्होंने हिमत नहीं हारी बॉक्स सापने के रास्ते खुद से निकाले और आज वो 25  से ज्यादा किताबे लिख चुक्के है और उनकी किताबे फिलिपकार्ड ऐमज़ॉन जैसी साइट पर बिकती है लन्दन और अमरीका बोत से बड़े अखबारो में जीवन BBC  तक उनके आर्टिकल सापे है आज लक्समन जो लोग चाय वाला कहकर लोग लेखक भी बुलाते है आपको इनकी कहानी सुन के केसा लगा कॉमेट में जरूर बताये 

इस कहानी से हमें  यह सिखने हो यह मिलता है हर व्यक्ति को अपनी हिमत नहीं हारनी चाहिए  और है आपने दोस्तों SARE  जरूर करे 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ